दस प्रतिशत आरक्षण का लाभ ले सकेंगे सामान्य वर्ग के छात्र, 10 लाख सीटें बढ़ेंगी

दस प्रतिशत आरक्षण का लाभ ले सकेंगे सामान्य वर्ग के छात्र, 10 लाख सीटें बढ़ेंगी

देशभर के शैक्षणिक संस्थानों में दस लाख सीटें बढ़ेंगी
सरकारी और प्राइवेट संस्थानों में होगा लागू

नई दिल्लीः मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD),  सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों को जल्द ही दस प्रतिशत आरक्षण का लाभ देगी. एमएचआरडी मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने हाल ही में आयोजित कार्यक्रम में इस बात की घोषणा की है. जावड़ेकर ने कहा कि दस फीसद आरक्षण का कोटा इसी सत्र 2019 से शुरू किया जाएगा. आरक्षण कोटे के तहत देशभर के संस्थानों में लगभग दस लाख सीटें बढ़ाई जाएंगी, जिसमें आईआईटी, आईआईएम सहित अन्य उच्च शिक्षण संस्थान शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि दस फीसदी आरक्षण कोटे के लिए कॉलेज और यूनिवर्सिटी में 25 फीसदी सीटें बढ़ाई जाएगी, ताकि मौजूदा सीटों पर असर न पड़े.

यह प्रावधान यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (UGC) द्वारा मान्यता प्राप्त सभी सरकारी और प्राइवेट शिक्षण संस्थानों में जल्द ही लागू किया जाएगा. ऑल इंडिया सर्वे ऑन हायर एजूकेशन (AISHE) 2017-18 के अनुसार यूनिवर्सिटीज की कुल संख्या 903, कॉलेजों की संख्या 39000 और स्टैंड अलोन संस्थान की संख्या 10000 हैं. ज्ञात हो कि हाल ही में सरकार ने सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में दस फीसदी के आरक्षण बिल को मंजूरी दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.