अंतरिम बजट में राष्ट्रीय शिक्षा मिशन को 38,572 करोड़ का फंड, आईआईटी व एनआईटी को भी तोहफा


राष्टीय शिक्षा मिशन के फंड में 6238 करोड़ रुपए की बढ़ोत्तरी

योजना और वास्तुकला के स्कूलों एसपीए की होगी स्थापना

एनआईटी और आईआईटी में बनेगा 18 एनपीए

नई दिल्लीः वित मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को अंतरिम बजट पेश किया. बजट के तहत राष्ट्रीय शिक्षा मिशन को 38,572 करोड़ रुपए आवंटित किया गया. इसमें केंद्र द्वारा संचालित शिक्षण योजनाएं सम्मिलित हैं जिसमें यह फंड, राज्यों और यूनियन टेरिटरीज को आवंटित किया जाएगा. पिछले साल यह फंड 32,334 करोड रुपए़ था, जिसमें 6238 करोड़ रुपए की वृद्धि की गई है.

फंड में 36,472 करोड़ प्री-प्राइमरी से बारहवीं कक्षा तक के लिए है. यह फंड समग्र शिक्षा अभियान योजना को प्रदान किया जाएगा जो कि सर्व शिक्षा अभियान और राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान समेत टीचर ट्रेनिंग के विलय से बना है. बाकी का बजट यानी 2100 करोड़ फंड उच्चतर शिक्षण के लिए आवंटित किया गया है जो कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय के राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) को दिया जाएगा.

फंड में बढ़ोतरी के अलावा केंद्र ने भारतीय प्रोद्यौगिकी संस्थान आईआईटी और राष्ट्रीय प्रोद्यौगिकी संस्थान एनआईटी को भी तोहफा दिया है. उन्होंने योजना और वास्तुकला के स्कूलों (एसपीए) की स्थापना का प्रस्ताव रखा है. इस संबंध में वित मंत्री पीयूष गोयल ने दो नए फुल-फ्लेज्ड एसपीए की स्थापना का प्रस्ताव रखा है जिसका चयन चैलेंज मोड द्वारा किया जाएगा. इसके अलावा विभिन्न आईआईटी और एनआईटी में 18 एसपीए ऑटोनोमस स्कूल के तौर पर बनाया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.