BPSC 2018: बीपीएससी 64वीं सिविल सेवा परीक्षा, एक दिन बाद 16 दिसंबर को

BPSC 2018: आज से एक दिन बाद यानी 16 दिसंबर 2018 को बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 64वीं सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा होगी. परीक्षा दोपहर 12 बजे से अपराह्न 2 बजे तक आयोजित की गई है. यह परीक्षा 1400 रिक्त पदों पर भर्ती के लिए होगी. परीक्षा में शामिल होने के लिए लगभग पांच लाख 50 हजार परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है. परीक्षा के माध्यम से राजस्व पदाधिकारी या समकक्ष ग्रेड के पदाधिकारी के 571 पद तथा आपूर्ति निरीक्षक के 223 पदों के अलावा अन्य रिक्त पदों पर अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा. 63वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा की तुलना में इस बार आवेदनकर्ताओं की संख्या में भारी इजाफा हुआ है. हालांकि पिछले बार रिक्त पदों की संख्या दोगुनी थी. बिहार लोक सेवा आयोग ने सभी परीक्षा केंद्रों में प्रश्नपत्र और उत्तरपुस्तिकाएं भेज दी है. इसके साथ ही आयोग ने सभी जिला प्रशासन को परीक्षा केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने का निर्देश दिया है.

सबसे ज्यादा परीक्षा केंद्र पटना में:
बीपीएससी परीक्षा के लिए पूरे राज्य के 35 जिलों में कुल 808 परीक्षा केंद्र तय किए गए है, जिसमें पटना में सर्वाधिक 93 केंद्र बनाए गए हैं. अधिकांश जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. इसके अलावा सात अनुमंडलों बाढ़, हिलसा, बिक्रमगंज, डिहरी, फारबिसगंज, राजगीर और नौगछिया में भी परीक्षा केंद्र बनाए बए हैं.

सवालों में पूछा जाएगा बिहार का इतिहासः
प्रारंभिक परीक्षा में सामान्य ज्ञान, तार्किक तर्क (लाजिकल रीजनिंग), राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय करेंट अफेयर्स, बिहार और भारत का इतिहास, स्वतंत्रता के बाद बिहार और भारत की आर्थिक और सामाजिक स्थिति, देश के महत्वपूर्ण क्रांति में बिहार का योगदान से संबंधित सवाल पूछे जाएंगे. इसमें 150 अंक के सवाल मल्टीपल च्वाइस के होंगे.

परीक्षा में बैठने के दिशानिर्देशः
एक बेंच पर दो ही परीक्षार्थी बैठेंगे
दोनों परीक्षार्थियों के बीच एक मीटर की दूरी होगी

चयन प्रक्रियाः
प्रारंभिक परीक्षा (प्रीलिमिनरी एग्जाम)
मुख्य परीक्षा (मेन्स एग्जाम)
साक्षात्कार (इंटरव्यू)

Leave a Reply

Your email address will not be published.