दूरदर्शन ने मनाया अपना 60वां स्थापना दिवस

15 सितम्बर 2019 को भारतीय दूरदर्शन के लिए एक अहम दिन है | इसका कारण यह है कि भारतीय दूरदर्शन ने 15 सितम्बर 2019 को अपनी स्थापना के 60 वर्ष पूरे कर लिए | क्योंकि 15 सितम्बर सन 1959 को ही इसकी शुरुआत एक प्रयोग या प्रायोगिक तौर पर की गई थी | इस प्रकार दूरदर्शन ने अपनी 60 वर्ष की यात्रा को 15 सितम्बर को पूरा कर लिया | इस दौरान भारतीय दूरदर्शन ने पूरी दुनिया में अपना एक अलग मुकाम स्थापित किया है |

वर्तमान में भी यह भारत के निर्माण में अपनी अहम भूमिका अदा कर रहा है | वर्तमान के इस घोर भौतिक वादी युग में भी जहाँ शुद्धता की कोई गारंटी नहीं ली जाती उस समय में भी दूरदर्शन अपनी विश्वसनीयता बनाए हुए है | दूरदर्शन की सबसे अधिक लोकप्रियता एवं आवश्यकता उस समय हुई जब ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ जैसे धारावाहिक दूरदर्शन के माध्यम से प्रसारित किए गए |

आज भी हमें अपने गृहस्थ जीवन की अधिकांश समस्याओं का समाधान इसी दूरदर्शन के माध्यम से मिल जाता है | उन समस्याओं में चाहे वह खेती-बारी की समस्या हो, पशुओं की समस्या हो, हमारे स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई समस्या हो ,मनोरंजन की बात हो, शिक्षा से सम्बंधित बात हो, पुराने समय की जानकारी प्राप्त करनी हो ,राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं से सम्बंधित जानकारी हो ,अर्थात सभी प्रकार की जानकारी बिना किसी भेदभाव के आज तक हमें दूरदर्शन उपलब्ध करता चला आ रहा है |

कार्यक्रमदूरदर्शन की स्थापना के 60 वर्ष पूरे होने के इस अवसर पर नई दिल्ली में एक समारोह का आयोजन भी किया गया | इस समारोह में केन्द्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी उपस्थित थे | इस अवसर पर उन्होंने दूरदर्शन पर एक डाक टिकट जारी किया और एक कविता भी जारी किया | जावड़ेकर ने दूरदर्शन की उपलब्धियों एवं आगामी योजनाओं पर भी विस्तार से बताया |   

Leave a Reply

Your email address will not be published.