7 दिन बाद राजस्थान में मिली स्वामी चिन्मयानन्द पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा

23 अगस्त को स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय के एलएलएम की जो छात्रा गायब हो गई थी शुक्रवार को उस लड़की को राजस्थान के दोसा जिले से बरामद कर लिया गया है | यह जानकारी बरेली जोन के डी आई जी राजेश पाण्डेय ने एक सवाल में दी |

मामले को सुप्रीम कोर्ट ने स्वतः संज्ञान में लिया

इसी मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी हुई | इस मामले को सुप्रीम कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेकर सुनवाई शुक्रवार को किया | इसी सुनवाई के समय उत्तर प्रदेश की सरकार ने न्यायमूर्ति आर भानुमती और न्यायमूर्ति ए .एस बोपन्ना की पीठ को बताया कि लड़की राजस्थान से बरामद कर ली गई है | अब इस समय लड़की को शाहजहांपुर के लिए लाया जा रहा है  | सरकार के इस बयान पर जब सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा की छात्रा को कितने समय में कोर्ट में पेस किया जा सकता है | तब राज्य सरकार की तरफ से बताया गया कि लड़की को लाने में अभी ढाई घंटे का समय लग सकता है | इस पर कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से कहा कि लड़की को कोर्ट में आज ही पेश करें |

आपको बता दें की इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के पास वकीलों के एक समूह ने पत्र लिखकर मामले को स्वतः संज्ञान लेने का अनुरोध किया था |उधर डीजीपी ने कहा है कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने भी एक एफ आई आर लड़की के नाम कराया है जिसमें उन्होंने लड़की के द्वारा 5 करोड़ रूपए की मांग करने का आरोप लगाया है |

स्वामी चिन्मयानन्द से संबंधित तथ्य

स्वामी चिन्मयानन्द पूर्व गृह राज्य मंत्री भी रह चुके हैं | स्वामी चिन्मयानन्द भाजपा सांसद भी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.