नृपेन्द्र मिश्र की प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव का पद छोड़ने की जताई इच्छा

प्रधानमंत्री के मुख्य सचिव नृपेन्द्र मिश्र ने प्रधानमंत्री से इच्छा व्यक्त  किया है कि वह अपने पद से मुक्त होना चाहते हैं | प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने उनके इस अनुरोध को स्वीकार करते हुए श्री नृपेन्द्र मिश्र को दो सप्ताह तक अपने पद पर बने रहने को कहा है | इसी बीच श्री पी के सिन्हा को ओएसडी के पद पर प्रधानमंत्री ने नियुक्त भी कर दिया है |

प्रधानमंत्री श्री नरेद्र मोदी ने श्री नृपेन्द्र मिश्र के बारे में खुद ही ट्वीट करते हुए यह जानकारी दी | प्रधान मंत्री जी ने अपने मुख्य सचिव श्री नृपेन्द मिश्र के बारे में ट्वीट करते हुए उनकी तारीफ़ किया |

नृपेन्द्र मिश्र से संबंधित मुख्य तथ्य

आपको जानकारी के लिए बता दें कि श्री नृपेन्द्र मिश्र 2014 से ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के के साथ रहे हैं | नृपेन्द्र मिश्र को मोदी -1 सरकार में प्रिंसिपल सेक्रेटरी बनाए जाने पर कांग्रेस ने खूब बवाल किया था | श्री नृपेन्द मिश्र 1967 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं | श्री मिश्र उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के रहने वाले थे |

नृपेन्द्र मिश्र ने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री प्राप्त की है | श्री मिश्र उत्तर प्रदेश में भी मुलायम सिंह यादव और कल्याण सिंह की सरकार में भी रह चुके हैं |उनकी छवि एक तेज तर्रार और इमानदार अधिकारी के रूप में जानी जाती है |

नृपेन्द्र मिश्र 2006 से 2009 के बीच ट्राई के चेयरमैन पद पर भी रह चुके हैं | ट्राई के चेयरमैन के पद पर उनकी नियुक्ति उनके सेवानिवृत्ति के पश्चात की गई थी |   

Leave a Reply

Your email address will not be published.