यूपी 2011 यूपी दरोगा भर्ती में पास हुए अभ्यर्थियों के आए अच्छे दिन, नई भर्ती के बिना भरे जाएंगे 830 पर

up daroga bharti

नई दिल्ली. यूपी में 2011 में हुई पुलिस सब इंस्पेक्टर और प्लाटून कमांडर परीक्षा में पास हुए छात्रों को सप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत दी है. शीर्ष अदालत ने इन अभ्यर्थियों को सीधा ट्रेनिंग पर भेजने का अदेश दिया है. बता दें कि इस परीक्षा के 607 पद खाली रह गए थे. वहीं दूसरी ओर  226 पद निर्भर, अनुकंपा, स्वतंत्रता सेनानी और सेवा आरक्षण कोटे के हैं. सुप्रीम कोर्ट का फैसला इन पदों पर भी लागू होगा. मतलब साफ है कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद  सब इंस्पेक्टर के 830 से ज्यादा इन पदों पर अब नई भर्ती नहीं की जाएगी.

पूरे मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस कुरियन जोसेफ और जस्टिस यूयू ललित की पीठ ने मंगलवार को यह आदेश देते हुए उत्तर प्रदेश सरकार से कहा कि मेरिट के आधार पर जिन लोगों ने 50 फीसदी या ज्यादा अंक अर्जित किए हैं उनकी इन पदों पर भर्ती यूपी सरकार सुनिश्चित करे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, फैसले में कोर्ट ने कहा कि सिपाही और हेड कांस्टेबल से सब इंस्पेक्टर के पद पर प्रोन्नत होने वाले लोगों की सुनवाई अलग से होगी, क्योंकि यह मामला भर्ती से संबंधित नहीं है.

बता दें कि 2011 की दारोगा भर्ती के  607 खाली पद उन लोगों के हैं, जिन्होंने इसे छोड़ दिया था. और कोई दूसरी नौकरी ज्वाइन कर ली थी। सरकार के वकीलों ने कहा कि सरकार अदालत के इस आदेश का पालन करेगी. इससे पहले यूपी सरकार इन पदों पर नए सिरे से भर्ती करने के लिए नया विज्ञापन निकालना चाहती थी. राज्य सरकार के इस फैसले को परीक्षा में पास हुए आलोक कुमार सिंह समेत 200 से ज्यादा छात्रों ने अदालत में चुनौती दी और कहा कि जब अर्हता प्राप्त लोग मौजूद हैं तो नई भर्ती क्यों की जाए. उन्हें रिक्तियों में समायोजित करना चाहिए. कोर्ट ने छात्रों का तर्क मान लिया और सरकार से कहा कि योग्य उम्मीदवारों को ट्रेनिंग पर भेजा जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.