UPTET 2018 परीक्षा में बीएड अभ्यर्थियों ने लहराया परचम

UPTET 2018 RESULT: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में बीएड अभ्यर्थियों ने सबसे अधिक सफलता प्राप्त कर परचम लहराया. परीक्षा में शामिल प्राथमिक स्कूल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहे बीटीसी प्रशिक्षु भी इस कतार में पीछे ही रह गए. वहीं रिजल्ट्स के स्कोर बेहतर रहने के बावजूद शिक्षामित्रों को भी तीसरे नंबर पर रहकर संतोष करना पड़ा.  4 दिसंबर को जारी परिणाम में टीईटी में कुल 3 लाख 66 हज़ार 285 अभ्यर्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए. इसमें बीएड के सफल अभ्यर्थियों की संख्या 2 लाख 59 हज़ार है. वहीं 72 हज़ार बीटीसी प्रशिक्षु और 22 हज़ार शिक्षामित्रों को सफलता मिली. अन्य 13 हज़ार सफल अभ्यर्थियों में डीएड, उर्दू बीटीसी, चार वर्षीय बीएलएड अभ्यर्थी आदि शामिल हैं.

बीएड अभ्यर्थियों को मिला सुनहरा मौका
बता दें कि बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों की 72825 सहायक अध्यापक भर्ती 2011 बीएड अभ्यर्थियों को मौका दिया गया था, मगर अगले सात सालों तक इन्हें नियुक्ति प्रदान नहीं की गयी. 26 जून 2018 को राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NSTE) ने इन बीएड कैंडिडेट्स को प्राथमिक शिक्षक के लिए दोबारा सशर्त मौका दिया, जिस कारण इस परीक्षा में बीएड अभ्यर्थियों ने बड़ी संख्या में उपस्तिथि दर्ज की.

परिणाम प्रतिशत में वृद्धि
2016 एवं 2017 की शिक्षक पात्रता परीक्षा में परिणाम प्रतिशत 11 फीसद के आस-पास रहा. इससे पहले अधिकतम 25 फीसद तक ही परिणाम प्रतिशत पहुँच सका. मगर इस बार बीएड अभ्यर्थियों ने प्राथमिक स्तर का परिणाम प्रतिशत 33 फीसद से ऊपर पहुंचा दिया है.

शिक्षक भर्ती के चयन में आगे रह सकते हैं शिक्षामित्र
टीईटी में तीसरे नंबर पर रहने के बावजूद शिक्षक भर्ती के चयन में शिक्षामित्रों का दबदबा रह सकता है. परीक्षा के अंक और भारांक मिलाकर शिक्षामित्र अन्य अभ्यर्थियों को चुनौती दे सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.